ऐसे लोग जो रहस्यमयी तरीके से गायब हो गए, नहीं मिला कोई सुराग

ऐसे लोग जो रहस्यमयी तरीके से गायब हो गए, नहीं मिला कोई सुराग

आपने इंसानों के गुमशुदा होने की खबरें तो बहुत सुनी होंगी…लेकिन यहां हम आपको कुछ ऐसे लोगों के बारे में बताएंगे जो गायब होने के बाद कभी नहीं मिले और ना ही उनका कोई सबूत मिला…

  1. कार्टर रामास्वामी
    कार्टर रामास्वामी ना सिर्फ एक क्रिकेटर थे बल्कि उन्हें टेनिस खेलना भी काफी पसंद था..वो भारत की ओर से डेविस कप में हिस्सा भी ले चुके थे…कार्टर रामास्वामी का जन्म 1896 में हुआ था और उन्होंने अपना पहला अंतराष्ट्रीय क्रिकेट मैच 1936 में खेला था…बता दें कार्टर ने टैस्ट क्रिकेट में जगह बनाने के लिए एक घरेलू क्रिकेट टूर्नामेंट के एक सीजन में 737 रन बनाए थे…उन्होंने कई दिग्गज खिलाड़ियों को पछाड़ दिया था…ज्यादा मौका ना मिलने से उनका करियर दो मैच में ही सिमट कर रह गया…
    जब वह अपने जीवन का आखिरी समय काट रहे थे तब एक दिन उनके मिसिंग होने की खबर मिली…वह अचानक घर से गायब हो गए…उन्हें ढूंढने की काफी कोशिश की गई लेकिन आखिर में कार्टर रामास्वामी को मृत घोषित घोषित किया गया..
  2. राहुल राजू
    केरल के अलप्पुझा में राहुल नाम का एक लड़का अपने दोस्तों के साथ क्रिकेट खेल रहा था…प्यास लगने पर वो पानी पीने गया लेकिन फिर लौटकर नहीं आया…मामला 18 मई 2005 का है और उस वक्त बच्चे की उम्र महज सात साल थी…राहुल के दोस्तों ने आखिरी बार उसे एक दाढ़ी वाले शख्स के साथ देखा था…बताते हैं कि इसी दौरान राहुल अचानक गायब हो गया और फिर कभी नहीं मिला…केरल कोर्ट ने भी राहुल को खोजने पर 50 हज़ार का इनाम भी रखा था लेकिन कुछ ना मिला…यहां तक सीबीआई इस केस को हल करने में फेल हो गई…राहुल को किसने अगवा किया या फिर वो जिंदा है या मर गया ये सवाल आज भी बना हुआ है…
  3. नाना साहेब
    पेशवा नाना साहेब को कौन नहीं जानता… मराठा साम्राज्य के एक शासक होने के नाते, नाना साहेब ने पुणे शहर के विकास के लिए महत्वपूर्ण योगदान दिया। वैसे तो आपको नाना साहेब के जीवनकाल से संबंधित कई दस्तावेज मिल जाएंगे लेकिन वह कहां शहीद हुए ,इस बारे में कोई ठोस जानकारी नहीं है… कुछ इतिहासकारों का मानना है कि नाना साहेब की मृत्यु 1857 में मलेरिया बुखार से हो गई थी..
    ये भी कहा जाता है कि नाना साहेब 1859 में नेपाल चले गये थे…जहां शिकार के दौरान वो बाघ के हमले से घायल हो गये और बाद में उनकी मौत हो गई… इसके अलावा ये भी माना गया है कि नाना साहब गुजरात के एक मंदिर में 46 साल तक एक ब्राह्मण दयानंद महाराज बन कर रहे…
    बताते हैं कि 1970 में नाना साहब के पोते केशवलाल मेहता के घर से 3 दस्तावेज मिले थे…इसमें एक डायरी भी मिली थी… डायरी के अनुसार नाना साहब गुजरात गए थे और उनकी मृत्यु 1903 में हुई थी… लेकिन असली सच्चाई क्या है कोई नहीं जानता..
  4. नटवर लाल
    नटवर लाल एक ऐसा ठग था जिसे पुलिस ने 9 बार पकड़ा, लेकिन वो हर बार जेल तोड़ कर भाग निकला… 14 धोखाधड़ी मामलों में इस ठग को 113 साल की सज़ा मिली..लेकिन शायद ही उसने जेल में सजा काटी हो…
    नटवर लाल का असली नाम मिथिलेश कुमार श्रीवास्तव था और उसका जन्म 1912 में बिहार के सिवान जिले के बंगरा गांव में हुआ था…वह पढ़ाई कर वकील तो बन गया लेकिन झूठ बोलना उसका पेशा बन गया…वो एक शातिर ठग बन गया… नटवरलाल ने पहली ठगी 1000 रुपये की थी और लोगों के नकली हस्ताक्षर करने में उसका कोई जवाब नहीं था…बताते हैं कि नटवरलाल ने ठगी करते हुए ताजमहल, लाल किला, राष्ट्रपति भवन और संसद भवन तक को कई बार सरकारी कर्मचारी बनकर बेच दिया था। नटवरलाल के 50 नाम थे और 1996 में उसे आखिरी बार देखा गया था..
    नटवरलाल पुलिस हिरासत से बच निकला और उसके बाद उसका का कोई सुराग नहीं मिला…उसके वकील ने बताया था कि 2009 में ही नटवरलाल का निधन हो गया था जबकि नटवरलाल के भाई ने कोर्ट में कहा कि 1996 में उन्होंने खुद अपने हाथों से नटवरलाल का अंतिम संस्कार किया था…इसलिए इस मामले में भी आजतक कोई ठोस सबूत हाथ नहीं लगा है…
  5. डी बी कूपर
    24 नवंबर 1971 की बात है… पोर्टलैंड एयरपोर्ट से एक व्यक्ति ने नॉर्थवेस्ट ओरिएंट एयरलाइन की फ्लाइट की वन वे टिकट बुक कराई… उड़ान भरते ही उसने प्लेन को हाईजैक कर लिया..उस शख्स ने प्लेन में सवार 36 यात्रियों की जान बचाने के लिए 4 पैराशूट, 2 लाख डॉलर कैश की डिमांड की…
    उसने पायलट को आदेश दिया कि फ्लाईट मेक्सिको की ओर उड़ान भरे..लेकिन सभी लोग उस समय हैरान रह गए जब वो शख्स 5000 फीट की ऊंचाई से अचानक कूद गया…उस शख्स का नाम डी बी कूपर था…
    बताते हैं कि इस घटना के बाद काफी छानबीन की गई लेकिन डी बी कूपर का कोई सुराग हाथ नहीं लगा…एफबीआई की केस हिस्ट्री में ये सबसे लंबे चलने वाले अनसुलझे केसों में से एक था.. 2016 में एफबीआई ने ये केस बंद कर दिया…
  6. स्नेहा एना फिलिप
    अमेरिका के वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हुए आतंकी हमले ने पूरी दुनिया को हिलाकर रख दिया था…इस हमले में कई लोगों की जान चली गईं…लेकिन इस लिस्ट में एक ऐसी लड़की का नाम भी शामिल है जिसकी कहानी किसी मिस्ट्री से कम नहीं…इस हमले के एक दिन बाद अमेरिका के मैनहैटन से एक 31 वर्षीय डॉक्टर गायब हो गई… भारतीय मूल की उस डॉक्टर का नाम स्नेह एना फिलिप है..
    आखिरी बार स्नेहा को 21 सेंचुरी नामक एक शॉपिंग डिपार्टमेंट स्टोर के सीसीटीवी कैमरे में देखा गया… जिसके बाद स्नेहा अचानक कहीं गायब हो गई…इस केस में दो बार अलग अलग जांच हुई लेकिन कुछ हाथ नहीं लगा..मिसिंग स्नेहा के परिवार के मुताबिक वह वर्ल्ड ट्रेड सेंटर हमले में घायल लोगों का ईलाज कर रही थी..
    पुलिस रिपोर्ट की माने तो स्नेहा को शराब की बुरी लत थी और वो एक लेस्बियन थी… पुलिस का मानना था कि हो सकता है स्नेहा की किसी ने हत्या कर दी हो…या फिर इस दोहरी ज़िंदगी से तंग आ गई हो…वहीं 2004 में कोर्ट ने स्नेहा का नाम विक्टिम लिस्ट से हटा दिया था फिर 2008 में इस फैसले पर माफी मांगते हुए एक अन्य कोर्ट ने स्नेहा को वर्ल्ड ट्रेड सेंटर हमले का 2751वां विक्टिम घोषित करार दिया… आज इतने साल होने के बाद भी स्नेहा के बारे में कोई ठोस जानकारी नहीं है…
Avatar

Pratiksha Srivastava

A multi-talented girl possesses a degree in mass communications who is proficient in anchoring and writing content. She has experience of 3 years for working in various news channels like India TV, News 1 India, FM news, and Aastha Channel and her expertise lies in writing for multiple requirements including news, blogs, and articles. Follow@Twitter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *