DMK प्रमुख का हुआ निधन, क्यों समर्थकों के लिए भगवान थे एम. करुणानिधि

DMK प्रमुख का हुआ निधन, क्यों समर्थकों के लिए भगवान थे एम. करुणानिधि

तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री और DMK प्रमुख एम. करुणानिधि उनके समर्थकों के लिए किसी भगवान से कम नहीं थे. उनके समर्थक उनके लिए कुछ भी कर सकते थे. इसका नजारा इन दिनों उस अस्पताल के सामने देखने को मिल रहा था जहां उन्हों भर्ती किया गया था.

लेकिन आखिर ऐसा क्या था उनके अंदर जो लोग उनपर जान छिड़कते थे. अपने समय में काफी कम उम्र में वो राजनीति में सक्रिय हो गए थे. और 33 साल कि उम्र वो विधानसभा पंहुच गए. इसके बाद वो लगातार राजनीति में गे बढ़ते गए.

सीनेमा में लहराया परचम

आपको ये जानकर हैरानी होगी कि अबतक उन्होंने जिस जगह आथ अजमाया सफलता मिली, वो हर राजनीति सफर के विजेता रहे हैं. यही नहीं राजनीति से पहले वो साउथ के सिनेमा के भी बादशाह रहे. उन्होंने सीनेमा जगत में भी अपना परचम लहराया

सीनेमा में संजीता और समाजवादी कहानियां गढ़ते गढ़ते उन्होनें समाज को बदलने का सोचा और राजनीति में उतर गए. और 5 बार मुख्यमंत्री रहे, जो चुनाव लड़ा उसमें सफलता मिली. और देखत ही देखते देश के से राजनीतिक शख्सियत बन गए जिसे हराना नामुमकिन था.

वो कुछ ऐसा राजनीतिक शख्सियत में भी शुमार थे. जो इतनी उम्र में भी अपने राजनीति का लोहा मनवाते रहे, आज भी वो उतने ही सक्रिय थे जितना शुरूआती दिनों में थे. बता दें हाल ही में उन्होंने अपना 93 जन्मदिन मनाया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *